onwin giris
Home देश राजनीति

कांग्रेस ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि भारत के हितों की रक्षा के लिए क्या कदम उठाए गए हैं

कांग्रेस ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे से पैदा हुए हालात के बीच बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि भारत के हितों की रक्षा के लिए क्या कदम उठाए गए हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘हक्कानी नेटवर्क, जैश-ए-मुहम्मद, जमात-उद-दावा व दूसरे कई आतंकी संगठनों का तालिबान सरपरस्त है। अफगानिस्तान में जब उसे सत्ता मिल गई है, तो यह चिंता स्वाभाविक है कि हमारी सरकार भारत के हितों की रक्षा कैसे करेगी।’सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘विमान अपहरण कांड को याद कीजिए। उस वक्त भाजपा की सरकार ने निर्दोष भारतीय नागरिकों की हत्या के दोषी मसूद अजहर और अन्य आतंकियों को छोड़ दिया था। क्या उस वक्त भारत ने तालिबान के साथ समझौता नहीं किया था? भारतीय प्रतिनिधिमंडल को तालिबान से बात करने के लिए दोहा कैसे भेजा गया था?’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘अफगानिस्तान में हिंसक और आतंकी संगठन सत्ता में आ गया है। हमें अपने हितों की रक्षा करनी है। भारत सरकार इसके बारे में क्या कर रही है? मोदी जी और गृह मंत्री सामने आकर कुछ तो बताएं?’ उन्होंने कहा कि तालिबान एक आतंकवादी संगठन है जो पाकिस्तान में हक्कानी नेटवर्क से जुड़ा है, जो पाकिस्तान सरकार की मदद और समर्थन से भारत विरोधी आतंकवादी गतिविधियों में शामिल है।सुरजेवाला ने कहा कि भारत हमेशा अफगानिस्तान में एक निर्वाचित सरकार के पक्ष में रहा है क्योंकि लोकतंत्र होने पर महिलाओं और बच्चों को समान अधिकार मिलेंगे। उन्होंने कहा कि जब तालिबान ने पिछली बार अफगानिस्तान पर कब्जा किया था, तो सभी ने देखा कि महिलाओं, अल्पसंख्यकों और लोकतंत्र के पक्ष में बोलने वाले सभी लोगों के साथ कैसा व्यवहार किया गया था। इन घटनाओं के बारे में सोचकर भी दिल कांप उठता है। दुनिया भर की महिलाएं आज इस बारे में चिंतित हैं।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.