Home उत्तराखंड राजनीति

कर्नल अजय कोठियाल आखिरकार उतरे आम आदमी पार्टी की राजनितिक में

केदारपुरी के पुननिर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कर्नल अजय कोठियाल (सेवानिवृत्त) आखिरकार सक्रिय राजनीति में उतर आए हैं। हालांकि, पूर्व में उनके भाजपा में जाने की भी चर्चा रही, मगर उन्होंने अपनी सियासी पारी के लिए आम आदमी पार्टी (आप) को चुना।

उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव में सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान कर चुकी आप को बेदाग छवि के चेहरे की जरूरत भी थी। राजनीति में सभी तरह के गुणा-भाग लगाने के बाद ही कर्नल कोठियाल ने आप का दामन थामा। आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कर्नल कोठियाल को राज्य में पार्टी के चेहरे के तौर पर ही पेश किया है।

सेना में विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके शौर्य व कीर्ति चक्र विजेता कर्नल कोठियाल ने नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) के प्राचार्य रहते हुए 2013 में केदारनाथ में आई आपदा के बाद विषम परिस्थितियों में भी केदारपुरी के पुनर्निर्माण कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाया था। सेवानिवृत्ति के बाद से उनके सक्रिय राजनीति में आने की चर्चा होती रही। पिछले लोकसभा चुनाव से पहले उनकी भाजपा में उच्च स्तर पर वार्ताएं भी हुई। ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि वह भाजपा का दामन थामेंगे, मगर बात आगे नहीं बढ़ पाई।

आमतौर पर माना जाता है कि किसी पार्टी में कैडर के तौर पर शामिल होने पर संबंधित व्यक्ति को नए सिरे से शुरुआत करनी पड़ती है। कर्नल कोठियाल यदि पूर्व में भाजपा में शामिल होते तो उन्हें भी खासी मशक्कत करनी पड़ती। इस बीच आम आदमी पार्टी ने उत्तराखंड में सक्रियता बढ़ाई तो उसे सर्वमान्य, स्वच्छ और बेदाग चेहरे की तलाश थी। आम आदमी पार्टी ने अपने इस पैमाने पर कर्नल कोठियाल को एकदम सही पाया।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.