onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

दून में बेवजह चालान काटकर वाहन चालकों को परेशान करने पर मुख्यमंत्री धामी ने नाराजगी जताई; पुलिस महानिदेशक को दिए निर्देश

दून में बेवजह चालान काटकर वाहन चालकों को परेशान करने और सिटी पेट्रोल यूनिट के गलत व्यवहार पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नाराजगी जताई है। उन्होंने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार को अपने आवास पर बुलाकर निर्देश दिया कि अनावश्यक रूप से वाहन चालकों को परेशान न किया जाए। इसके बाद डीजीपी ने एसएसपी कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्देशित किया कि पुलिस चालान काटने और आमजन को परेशान करने के बजाय दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए काम करें।बैठक में डीजीपी ने कहा कि यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर चालान के लिए अब तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके लिए जगह-जगह विशेष कैमरे व अन्य स्वचालित उपकरण लगाए गए हैं। ट्रैफिक आई एप का इस्तेमाल भी किया जा रहा है। इसलिए पुलिसकर्मियों का इस्तेमाल चालान करने के बजाय यातायात सुधार में करें। उन्होंने कहा कि जिले में 17 बाटलनेक और 49 ब्लैक स्पाट चिह्नित किए गए हैं। अधिकारी इस पर फोकस करें कि बाटलनेक और ब्लैक स्पाट को कैसे सुधारा जा सकता है।

बैठक में डीजीपी ने कहा कि वाहनों की बेतरतीब पार्किंग के कारण शहर में जगह-जगह जाम की स्थिति बन रही है। इसलिए नगर निगम, एमडीडीए, स्मार्ट सिटी कंपनी से सामंजस्य बनाकर निजी पार्किंग बनाने की व्यवस्था की जाए। साथ ही ऐसे प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की जाए, जो बेसमेंट का इस्तेमाल पार्किंग के बजाय गोदाम व अन्य रूप में कर रहे हैं। डीजीपी ने बताया कि शहर में अभी भवनों के बेसमेंट में बनी 62 पार्किंग ही चालू स्थिति में हैं।डीजीपी ने कहा कि सड़कों के किनारे से अवैध कब्जे हटवाने के लिए थाना व चौकी पुलिस और वाहनों की गलत पार्किंग रोकने के लिए यातायात पुलिस की जिम्मेदारी तय की जाए। वहीं, मार्गों से अस्थायी अतिक्रमण हटवाने के लिए पुलिस अधीक्षक नगर और देहात कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था वी. मुरुगेशन, पुलिस उपमहानिरीक्षक गढ़वाल रेंज नीरू गर्ग, निदेशक यातायात मुख्तार मोहसिन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून जन्मेजय खंडूरी आदि मौजूद रहे।डीजीपी ने कहा कि शहर में चल रहे स्मार्ट सिटी के कार्यों से भी यातायात प्रभावित हो रहा है। स्मार्ट सिटी कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि फरवरी अंत तक स्मार्ट सिटी का कार्य पूरा हो जाएगा। उन्होंने एसएसपी जन्मेजय खंडूरी को निर्देशित किया कि स्मार्ट सिटी के अधिकारियों से सामंजस्य स्थापित करें।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.