Latest:
Home उत्तराखंड

कोरोना संक्रमण में आए माता-पिता के बच्चों की देखभाल करेगा चाइल्ड हेल्प लाइन

कोरोना संक्रमण की जद में आए माता-पिता के साथ छोटे बच्चों को नहीं रखा जा सकता है। ऐसे में संक्रमित व्यक्ति के बच्चों को संभालने से रिश्तेदार व पड़ोसी भी कतरा रहे हैं। जिसके बाद अब यह जिम्मेदार चाइल्ड हेल्प लाइन की दी जा रही है। जहां अभिभावक का संक्रमण ठीक होने तक बच्चों की देखभाल की जाएगी।

कोरोना संक्रमण से हर वर्ग परेशान है। लेकिन जिसके छोटे बच्चे हैं, उनकी परेशानी सबसे ज्यादा है। यदि घर में बच्चों के साथ अकेली मां या अकेला पिता है तो संक्रमण के दौरान बच्चे की देखभाल करना बड़ी समस्या है। इस समस्या के सामने आने के बाद महिला व बाल कल्याण निदेशक मेजर योगेंद्र यादव ने संबंधित विभागों को निर्देश जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि माता-पिता या अभिभावक के संक्रमित होने के बाद ऐसे बच्चों को बाल कल्याण समिति के माध्यम से चाइल्ड हेल्प लाइन को सौंपा जाएगा।

जहां अस्थाई रूप से बच्चों की देखभाल का कार्य किया जाएगा। माता-पिता या अभिभावक का संक्रमण खत्म होने के बाद बच्चे उनके सुपुर्द कर दिए जाएंगे। वहीं यदि अभिभावक की मृत्यु हो जाती है तो बाल कल्याण समिति को इस संबंध में निर्णय लेना होगा। चाइल्ड हेल्प लाइन के निदेशक प्रकाश चंद्र पांडेय ने बताया कि शासन से इस संबंध में आदेश आया है। जिसका अनुपालन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तक इस तरह का कोई बच्चा नहीं आया है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.