Home उत्तराखंड टेक्नोलॉजी लाइफ स्‍टाइल स्लाइड

ये 5 तरीके अपनाएं बच्चों के लिए ई-लर्निंग के लिए

1-छोटे बच्चों के लिए और शायद आपके लिए भी यह एकदम नया तरीका है। इसलिए घर के बड़े बच्चों या घर में जो इंटरनेट वगैरह को ज्यादा समझते हैं, उनकी मदद लें। खुद भी उसे समझें। सबसे पहले छोटे बच्चे को समझाएं कि इससे उसे पढ़ाई में कैसे मदद मिलेगी।

2-ई-लर्निंग मोड है तो क्या! कोर्स तो वही किताबों वाला ही रहेगा। इसलिए अगर ईबुक्स मिलती हैं, तो उनके चैप्टर की पढ़ाई आप भी करवाएं। अगर आपके पास समय नहीं बचता, तो घर में दादा-दादी की मदद ले सकते हैं।

3-आजकल कुछ टीचर्स कुछ ऐप के माध्यम से बच्चों को क्लास की तरह एक साथपढ़ा रहे हैं। ऐसे में घरवालों को देखना चाहिए कि बच्चा बीच-बीच में शरारत तो नहीं कर रहा। साथ ही बच्चे की क्लास के लिए एक जगह भी नियत कर दें।

4-जॉइंट फैमिली है, तो घर के बड़े-बुजुर्गों को यह जिम्मा दे सकती हैं कि वे ईबुक या ऑनलाइन क्लास में सिखाई गईबातों का रिवीजन कराते रहें। काम चुटकियों में खत्म होगा।

5-बच्चे को कोई विषय नहीं समझ आ रहा या उसकी पढ़ाई में परफॉर्मेंस से संबंधी बातों को टीचर से चर्चाकरने की जिम्मेदारी भी इस दौरान बड़ों को दे दीजिए। उन्हें पेरेंट्स के व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल कर दीजिए। वो व्यस्त रहेंगे और आपका काम भी हो जाएगा।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.