Home उत्तराखंड राजनीति

जींस पर दिए गए विवादित बयान को लेकर विपक्ष और महिला संगठनों के निशाने पर मुख्यमंत्री

Share and Enjoy !

जींस पर दिए गए विवादित बयान को लेकर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत विपक्ष और महिला संगठनों के निशाने पर आ गए हैं। एक ओर जहां इंटरनेट मीडिया में इसे लेकर मख्यमंत्री को लगातार ट्रोल किया जा रहा है। वहीं, कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाते हुए प्रदेश में जगह-जगह मुख्यमंत्री के पुतले फूंके और माफी मांगने की मांग की। असहज महसूस कर रही पार्टी ने उनके बचाव में मोर्चा संभाला। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि पार्टी महिलाओं का पूरा सम्मान करती है, विपक्ष उनके बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत कर रहा है। हालांकि इस सबके बीच समाज का एक तबका इस बयान का समर्थन भी कर रहा है।

देहरादून में एक कार्यक्रम में दिया गया मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का बयान अब उनके लिए ही मुश्किल का सबब बनता जा रहा है। फटी जींस पर टिप्पणी से इंटरनेट मीडिया पर मुख्यमंत्री लगातार ट्रोल हो रहे हैं। ट्विटर पर अभी तक 36 हजार से अधिक लोग इस पर प्रतिक्रिया दे चुके हैं। मुख्यमंत्री के इस बयान को महिलाओं के पहनावों के प्रति संकीर्ण मानसिकता का द्योतक बताया जा रहा है। वहीं, उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन के बाद से मुद्दा तलाश रही कांग्रेस इसे हाथ से नहीं जाने देना चाहती। पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने कहा कि समय के साथ सांस्कृतिक परंपराओं में बदलाव आ रहा है। यह नया जमाना है। मुख्यमंत्री को मोदी में राम नजर आते हैं।

अब वह बेटियों के पहनावे पर टिप्पणी करने लगे हैं। अभी वह त्रिवेंद्र रावत के फैसले बदल कर वाहवाही बटोरने का काम कर रहे हैं। कुछ ऐसा करें कि लगे उत्तराखंड विकास के परिवर्तन की झलक दिखा रहा है। दूसरी ओर मुख्यमंत्री के बचाव में उतरी भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष ऋतु खंडूडी ने कहा कि उनके बयान को विस्तृत परिपेक्ष्य में देखने की जरूरत है। वह समाज में संस्कारों में जो बदलाव आ रहे हैं उनकी बात कर रहे हैं। संस्कारों का जो अभाव दिख रहा है उस पर काम करने की जरूरत है, उन्हें सुधारना है।

‘कुंभ को लेकर कोई रोक-टोक नहीं होनी चाहिए। अखाड़ों, व्यापारियों और लोगों को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। मैंने अधिकारियों से साफ कहा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री शाह जी के यहां पेशी लगेगी तो मेरी लगेगी, इसमें क्या दिक्कत है। वे पूछेंगे, डांटेंगे तो कोई दिक्कत नहीं है।’ मुख्यमंत्री बनने के बाद प्रदेश कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में’त्रेता व द्वापर युग में राम-कृष्ण हुए हैं। राम ने यही समाज का काम किया था तो उन्हें भगवान मानने लगे। आने वाले समय में लोग नरेंद्र मोदी को भी उसी रूप में मानने लगेंगे। जो काम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं उसकी जय-जयकार है। मोदी है तो मुमकिन है।’

‘जब मैं युवाओं को फटी जींस पहनकर घूमते देखता हूं तो आश्चर्य होता है। एक बार मैं जयपुर से दिल्ली की फ्लाइट में था। मेरे पड़ोस की सीट पर एक महिला बैठी हुई थीं। महिला एक एनजीओ चलाती थीं जबकि उनके पति कालेज में प्रोफेसर थे। महिला ने पांव में गमबूट और जींस पहनी हुई थी, जो घुटनों में फटी थी। महिला के साथ दो बच्चे भी थे। एक महिला जो एनजीओ चलाती हैं, उनके फटी जींस से घुटने नजर आ रहे हैंं, वो समाज के बीच में जाती हैं, बच्चे साथ में है। क्या संस्कार दे रही हैं।”मैं श्रीनगर में गढ़वाल विश्वविद्यालय में पढ़ता था। एक लड़की चंडीगढ़ से आई थी। उसने हाफ कट पहना हुआ था। लड़के ऐेसे देख रहे थे कि कोई मुंबई से आ गई। कुछ दिन उसका खूब मजाक बना। यूनिवर्सिटी में पढ़ने आई हो और बदन दिखा रही हो, क्या होगा।’

Share and Enjoy !

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.