onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

प्रदेश में चारधाम यात्रा मार्गों से जुड़े शहरों में वाहनों के लिए पार्किंग सुविधा विकसित करने पर सरकार विशेष ध्यान

प्रदेश में चारधाम यात्रा मार्गों से जुड़े शहरों में वाहनों के लिए पार्किंग सुविधा विकसित करने पर सरकार विशेष ध्यान केंद्रित करेगी। शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने इस संबंध में विभागीय अधिकारियों को प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही जिन शहरों में पार्किंग से संबंधित योजनाएं चल रही हैं, उन्हें जल्द से जल्द पूर्ण कराने को कहा है।पर्यटन और तीर्थाटन राज्य की आर्थिकी से जुड़ा महत्वपूर्ण विषय है। हर साल सामान्य परिस्थितियों में लगभग साढ़े तीन करोड़ लोग उत्तराखंड में आते हैं। इनमें बड़ी संख्या चारधाम समेत अन्य धार्मिक स्थलों में दर्शन के लिए आने वाले यात्रियों की होती है। इस परिदृश्य के बीच अन्य राज्यों से आने वाले पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को यहां वाहनों की पार्किंग की समस्या से जूझना पड़ता है। सरकार ने अब इस विषय को गंभीरता से लिया है।

शहरी विकास मंत्री अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश के शहरों में वाहनों की पार्किंग के लिए व्यवस्था होना आवश्यक है। पर्यटकों, तीर्थयात्रियों के साथ ही स्थानीय नागरिकों को भी इससे सुविधा मिलेगी। इस पर ध्यान केंद्रित किया गया है। हाल में उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ में पार्किंग व्यवस्था के लिए लगभग सात करोड़ रुपये की राशि जारी की गई। उन्होंने कहा कि अन्य शहरों में पार्किंग सुविधा के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।शहरी विकास मंत्री अग्रवाल ने उनसे शिष्टाचार भेंट करने आए विभागीय सचिव शैलेश बगौली को ऋषिकेश में पार्किंग की समस्या का तुरंत समाधान कराने के निर्देश दिए। अग्रवाल ने कहा कि चारधाम यात्रा के दृष्टिकोण से ऋषिकेश सबसे महत्वपूर्ण शहर है। ऐसे में वहां वाहनों का अत्यधिक दबाव रहता है और पार्किंग की पुख्ता व्यवस्था न होने के कारण यात्रियों व पर्यटकों को दिक्कत का सामना करना पड़ता है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.