onwin giriş
Home उत्तराखंड चारधाम यात्रा

चार धाम यात्रा चरम पर उत्तराखंड पुलिस ने विशेष कार्ययोजना तैयार की

चार धाम यात्रा चरम पर है। बड़ी संख्या में दर्शनों को पहुंच रहे श्रद्धालुओं के कारण यात्रा मार्गों पर जाम की समस्या भी बन रही है। इसे देखते हुए उत्तराखंड पुलिस ने विशेष कार्ययोजना तैयार की है। चार धाम यात्रा मार्ग के कोर एरिया को आठ जोन और 28 सेक्टर में बांटा गया है। कई जगह दबाव बढ़ने पर रूट डायवर्ट करने की भी तैयारी है।पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार के निर्देश पर पुलिस मुख्यालय की ओर से चार धाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। हरिद्वार से व्यासी के बीच का मार्ग यातायात के दृष्टिगत कोर एरिया है।

यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए चार जनपदों में पड़ने वाले चार धाम कोर एरिया मार्ग को कुल आठ जोन व 28 सेक्टर में विभाजित किया गया है। जनपद हरिद्वार में शंकराचार्य चौक से पंतदीप पार्किंग तक के मार्ग को एक जोन और जयराम मोड़ से सप्तऋषि फ्लाईओवर तक छह सेक्टर में बांटा गया है।

जनपद देहरादून के रायवाला में सप्तऋषि बार्डर से लालतप्पड़ तक एक जोन व नेपाली फार्म से चंद्रभागा पुल तक एक जोन बनाया गया है, जिसमें सात सेक्टर हैं। जनपद टिहरी में अधिक यातायात दबाव होने के कारण ढालवाला, मुनिकीरेती व तपोवन-व्यासी तक के मार्ग को अलग-अलग तीन जोन में बांटा गया है, जिसमें कुल 10 सेक्टर हैं। जनपद पौड़ी के लक्ष्मणझूला में एक जोन व पांच सेक्टर बनाए गए हैं।

अन्य प्रदेशों से आने वाले वाहनों के बाधारहित आवागमन के लिए अलग से प्लान बनाया गया है। जिसमें दिल्ली-मेरठ से आने वाले हल्के वाहन मुजफ्फरनगर-मंगलौर से नगला इमरती राष्ट्रीय राजमार्ग 334 से रुड़की बाईपास के रास्ते हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश पहुंचेंगे।यमुनानगर-सहारनपुर से हरिद्वार की ओर आने वाले वाहनों को भगवानपुर से इमलीखेड़ा होते हुए बहादराबाद की तरफ से हरिद्वार की ओर भेजा जाएगा। मुरादाबाद-बिजनौर-नजीबाबाद से आने वाले हल्के वाहन चंडी चौकी से हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश जाएंगे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.