Home उत्तराखंड मेडिकल

उत्तराखंड में लगातार बढ़ रहे गुलदार का आतंक, लेटेस्ट आंकड़ों के मुताबिक इस साल 24 लोग गंवा चुके हैं जान

 उत्तराखंड में लगातार आदमखोर तेंदुए के हमले बढ़ते जा रहे है आए दिन ऐसी की खबर सामने आ रही है वन विभाग अधिकारियों और विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोनोवायरस के चलते हुए लॉकडाउन ने जंगली जानवरों को मानव निवास के करीब ला दिया है।खबर और सूत्रों के  इस साल राज्य में लगभग 24 लोग तेंदुए के हमलों में अपनी जान गंवा चुके हैं। यह पिछले साल की तुलना में 30% से अधिक की वृद्धि है जब राज्य में तेंदुए के हमलों में 18 लोगों की मौत हो गई थी। बता दें कि शनिवार 24 अक्टूबर को नैनीताल जिले के ओखलकांडा ब्लॉक में एक तेंदुए ने एक 45 वर्षीय महिला की हत्या कर दी थी। पिछले हफ्ते अकेले नैनीताल जिले में तेंदुए के हमलों के कारण तीन महिलाओं की मौत हुई।

इन वैज्ञानिकों ने सहमति व्यक्त की है कि स्तनधारियों, जलीय प्रजातियों और पक्षियों के व्यवहार में सूक्ष्म परिवर्तन कोविड-19 के प्रकोप के बाद शूट किए गए विभिन्न वीडियो में देखे गए हैं। उत्तराखंड में भी, वन अधिकारियों का कहना है कि तेंदुए के हमलों में तेजी के पीछे एक संभावित कारण लॉकडाउन हो सकता है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.