Home उत्तराखंड राजनीति

सल्ट विधानसभा सीट पर उप चुनाव को लेकर भाजपा-कांग्रेस के अलावा अन्य दलों ने भी पूरी ताकत झोंकी

अल्मोड़ा जिले की सल्ट विधानसभा सीट पर उप चुनाव को लेकर भाजपा-कांग्रेस के अलावा अन्य दलों ने भी पूरी ताकत झोंक रखी है। हालांकि, उत्तराखंड क्रांति दल को छोड़ किसी अन्य पार्टी ने अब तक प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है। निर्वाचन आयोग और स्थानीय प्रशासन के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती लोगों को चुनाव के दिन मतदान के लिए बूथ तक लाना है। सल्ट विधानसभा चुनाव में लगातार मतदान प्रतिशत घटा है। पिछले चुनाव में आधे लोग मतदान के लिए घरों से निकले ही नहीं। जिस वजह से सिर्फ 45.74 प्रतिशत लोगों ने लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व में हिस्सा लिया था।भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह जीना का कुछ समय पहले कोरोना की वजह से निधन हो गया था। जिस वजह से इस सीट पर उपचुनाव कराए जा रहे हैं। दोनों पार्टियों ने अपने स्तर से प्रचार शुरू कर दिया है।

भाजपा-कांग्रेस के पर्यवेक्षक क्षेत्र में जाकर रिपोर्ट भी तैयार कर चुके हैं। जल्द भाजपा व कांग्रेस के हाई कमान द्वारा प्रत्याशी की घोषणा कर दी जाएगी। दोनों ही पार्टियों में मंथन जारी है। उप चुनाव का 2022 का संकेत भी बताया जा रहा है। हालांकि, मतदान का ग्राफ बढ़ाना बड़ी चुनौती है।पिछले तीन विधानसभा चुनावों की बात करें तो अल्मोड़ा जिले में मतदान प्रतिशत लगातार गिरा है। 2017 के चुनाव में 60.69 प्रतिशत मतदान हुआ था। 2012 में 55.42 प्रतिशत वोटिंग हुई। वहीं, 2017 में वोटिंग को लेकर लोगों की दिलचस्पी और घट गई। सिर्फ 52.88 प्रतिशत लोगों ने वोटिंग की। सल्ट विधानसभा चुनाव में भी यही स्थिति रही। यहां कुल 45.74 लोगों ने ही मत का प्रयोग किया।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.