onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

उत्तराखंड में फिर से सत्तासीन होने जा रही भाजपा सरकार और पार्टी संगठन की पहली परीक्षा अगले वर्ष

उत्तराखंड में फिर से सत्तासीन होने जा रही भाजपा सरकार और पार्टी संगठन की पहली परीक्षा अगले वर्ष होने वाली है, जिसके लिए पार्टी ने रूपरेखा तैयार करनी शुरू कर दी है।अगले साल राज्य में होने वाले नगर निकाय चुनावों में भाजपा की पहली परीक्षा होगी। नगर निकायों में दोबारा परचम फहराकर पार्टी वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए प्रदेश में मजबूत आधारशिला रखने का प्रयास करेगी। इसे देखते हुए भाजपा अब नगर निकाय चुनाव की रूपरेखा तैयार करने में जुट गई है। राज्य में नगर निकायों की संख्या 102 है, जिनमें से तीन में चुनाव नहीं होते।

राज्य में वर्ष 2018 में हुए नगर निकाय चुनावों में भाजपा ने लगभग 75 प्रतिशत निकायों में अपना बोर्ड बनाने में सफलता हासिल की थी। तब नगर निकायों की कुल संख्या 92 थी, जो पिछले पांच साल में बढ़कर सैकड़ा पार कर चुकी है। अब दो-तिहाई बहुमत हासिल कर प्रदेश में सत्तासीन होने जा रही भाजपा सरकार और संगठन की जनता के बीच पहली परीक्षा निकाय चुनावों में होनी है।असल में नगर निकायों की माली हालत बहुत बेहतर नहीं है। कर्मचारियों के वेतन से लेकर नगरीय क्षेत्रों में होने वाले विभिन्न विकास कार्यों के लिए निकायों को राज्य और केंद्र से मिलने वाले बजट पर ही निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे में नई सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती नगर निकायों को अपने पैरों पर खड़ा कर उनकी आय के स्रोत बढ़ाने की होगी।

इसके लिए सरकार को फैसिलिटेटर की भूमिका का निर्वहन करते हुए निकायों को प्रोत्साहित करना होगा। नगर निकायों में पिछले परिसीमन में लगभग 300 गांवों को नगरों का हिस्सा बनाया गया था। इन क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं के विकास की चुनौती सरकार के सामने रहेगी।इस परिदृश्य के बीच सभी की नजर निकायों को लेकर नई सरकार द्वारा उठाए जाने वाले कदमों पर टिक गई है। भाजपा संगठन भी पिछली सरकार द्वारा किए गए कार्यों और नई सरकार की नगर निकायों के प्रति प्रतिबद्धता व नीतियों को लेकर जनता के बीच जाएगा। साफ है कि सरकार और भाजपा संगठन दोनों को ही निकाय चुनाव में जनता की कसौटी पर खरा उतरने की चुनौती है।

भाजपा संगठन इसकी रूपरेखा तैयार करने में जुट गया है। पार्टी सूत्रों के अनुसार सभी नगर निकायों में कार्यकत्र्ताओं को सक्रिय करने की योजना बनाई जा रही है तो निकायों से संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में तैनात विस्तारकों से फीडबैक लेना शुरू कर दिया गया है। नई सरकार का गठन होने के बाद निकाय चुनाव के लिए पार्टी अपनी मुहिम को धार देगी।राज्य विधानसभा चुनाव में मिले दो-तिहाई बहुमत के बाद उत्तराखंड के भाजपा सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भेंट कर उन्हें जीत की बधाई दी। सांसदों ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात कर जीत पर उनका मुंह मीठा किया। सोमवार को नई दिल्ली में संसद भवन में भाजपा सांसदों ने प्रधानमंत्री से भेंट की। हरिद्वार सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री डाक्‍टर रमेश पोखरियाल निशंक, भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम, केंद्रीय राज्य मंत्री व सांसद नैनीताल अजय भट्ट, सांसद टिहरी महारानी माला राज्यलक्ष्मी शाह, सांसद पौड़ी तीरथ सिंह रावत, सांसद अल्मोड़ा अजय टम्टा, राज्यसभा सदस्य व भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी तथा राज्यसभा सदस्य नरेश बंसल उपस्थित थे।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.