onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

भाजपा ने अपने दृष्टि पत्र में जहां सत्ता में आने के बाद प्रदेश सरकार द्वारा प्रस्तावित योजनाओं को गिनाया

भाजपा ने अपने दृष्टि पत्र में जहां सत्ता में आने के बाद प्रदेश सरकार द्वारा प्रस्तावित योजनाओं को गिनाया है, तो केंद्रीय योजनाओं के जरिये विकास को गति देने का जिक्र भी किया है। मुख्य रूप से सीमांत क्षेत्रों के विकास, कृषि, शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में केंद्रीय योजनाओं की तर्ज पर प्रदेश में योजनाएं बनाने की बात कही गई है।भाजपा ने दृष्टि पत्र में सीमाओं की सुरक्षा पर विशेष फोकस किया है। केंद्र की सीमांत क्षेत्र विकास योजना और वाइब्रेंट विलेज योजना के क्रम में यहां सीमांत क्षेत्र विकास बोर्ड गठित करने वादा किया गया है। बलिदानी सैनिकों के आश्रितों को केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता के अतिरिक्त अनुग्रह राशि देने की बात भी भाजपा ने कही है।स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय डायलिसिस योजना का लाभ जनता तक पहुंचाने के लिए हर जिले में डायलिसिस केंद्र की स्थापना करने का वादा भाजपा ने अपने दृष्टि पत्र में किया है। इसके अलावा कुमाऊं मंडल में एम्स के सेटेलाइट केंद्र की जल्द स्थापना के साथ ही स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को और अधिक सुदृढ़ करने की कड़ी में प्रत्येक जिले में एक अस्पताल को सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में परिवर्तित करने को अपनी प्राथमिकता में रखा है।

केंद्र सरकार नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 (एनईपी) लेकर आई है। भाजपा ने फिर से सत्ता में वापसी करने पर राज्य में शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए एनईपी को लागू करने का वचन दिया है। ऐसा करने पर उत्तराखंड एनईपी लागू करने वाला पहला राज्य बन जाएगा। केंद्र की दीक्षा योजना के तहत गुणवत्तापूर्ण आनलाइन लर्निंग का विकल्प प्रदान करने, वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए राष्ट्रीय अनुसंधान फाउंडेशन की तर्ज पर राज्य अनुसंधान फाउंडेशन की स्थापना व प्रधानमंत्री अनुसंधान फैलोशिप कार्यक्रम की तर्ज पर मुख्यमंत्री अनुसंधान फैलोशिप कार्यक्रम शुरू करने को भी दृष्टिपत्र में स्थान दिया गया है।

पर्यटन राज्य की आर्थिकी का महत्वपूर्ण आधार है। प्रदेश में प्रतिवर्ष सामान्य परिस्थितियों में साढ़े तीन करोड़ से अधिक सैलानी व तीर्थयात्री पहुंचते हैं। अब जबकि तीर्थाटन व पर्यटन के दृष्टिकोण से सुविधाएं विकसित हो रही हैं तो आने वाले दिनों में पर्यटकों व श्रद्धालुओं की संख्या में भी बढ़ोतरी होना तय है। इस दृष्टि से 45 नए हाट स्पाट पर फोकस करना भविष्य की आवश्यकताओं को पूरा करने के विजन को प्रदर्शित करता है।खेल के क्षेत्र में देखें तो फिट इंडिया और खेलो इंडिया की तर्ज पर भाजपा ने भी भावी योजना का खाका खींचा है। इसके तहत प्रत्येक ब्लाक में ओपन जिन की स्थापना के साथ ही समर्पित निवेश से देवभूमि को सशक्त देवभूमि के रूप में विकसित करने का इरादा जताया गया है। इसके पीछे मंशा यही है कि खेल प्रतिभाओं के लिए सुविधाएं विकसित हो सकें।उत्तराखंड में देहरादून-दिल्ली आर्थिक गलियारे और अन्य बुनियादी ढांचागत परियोजना का लाभ उठाकर पांच लाख रोजगार के अवसर सृजित करने की बात भी दृष्टि पत्र में कही गई है। पार्टी ने अपने दृष्टि पत्र में केंद्र की पर्वतमाला परियोजना के अंतर्गत राज्य के 10 पहाड़ी जिलों में रोपवे परिवहन नेटवर्क निर्माण को भी प्राथमिकता में रखा है।

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.