onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

विधानसभा सीट रामनगर में कांग्रेस डैमेज कंट्रोल करने में सफल नहीं हो पाई

विधानसभा सीट रामनगर में कांग्रेस डैमेज कंट्रोल करने में सफल नहीं हो पाई। कांग्रेस से बगावत कर नामांकन करने वाले पूर्व ब्लाक प्रमुख संजय नेगी ने नाम वापस नहीं लिया। उन्हें मनाने की कोशिश भी की गई। इस दौरान नेगी ने कांग्रेसप्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल को मेल, इंटरनेट मीडिया के जरिए कार्यकर्ता के दायित्व से मुक्त करने के लिए इस्तीफा भी भेज दिया।

रामनगर में कांगे्रस से बाहरी प्रत्याशी महेंद्र सिंह पाल को टिकट दिए जाने पर पूर्व सीएम हरीश रावत के नजदीकी रहे व पूर्व ब्लाक प्रमुख संजय नेगी ने बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल किया। इस दौरान कांगे्रस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने उनसे फोन पर बात भी की थी। नेगी ने बताया कि सोमवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव कुलदीप इंदोरा ने फोन पर बात कर नामांकन वापस लेने को कहा।लेकिन उन्होंने नामांकन वापस लेने से साफ मना कर दिया है। प्रदेश अध्यक्ष को भेजे गये इस्तीफे में नेगी ने कहा कि वह लंबे समय से पार्टी की सेवा में जुटे थे। लेकिन पार्टी ने रामनगर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को तीन पैराशूट प्रत्याशी ही थोपे है। दुर्भाग्यपूर्ण भावना से पार्टी ने मुझे आहत किया है। इसलिए वह अपने सभी दायित्वों को त्याग रहे हैं।

 

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.