onwin giriş
Home उत्तराखंड राजनीति

उत्तराखंड में वर्ष 2017 का करिश्मा दोहराने की कोशिश में जुटी भाजपा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह करेंगे देहरादून में चुनावी शंखनाद

उत्तराखंड में वर्ष 2017 का करिश्मा दोहराने की कोशिश में जुटी भाजपा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को देहरादून में चुनावी शंखनाद करेंगे। मिशन 2022 की शुरुआत को सुविचारित रणनीति के तहत भाजपा के चुनावी चाणक्य कहे जाने वाले शाह की जनसभा के लिए देहरादून को चुना गया है। इसके जरिये पार्टी गढ़वाल मंडल की 41 विधानसभा सीटों तक सीधी पहुंच बना सकती है। चुनाव से ठीक पहले मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना लांच कर पार्टी आधी आबादी, यानी महिला मतदाताओं को साधने का कार्ड भी चलने जा रही है।पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 70 में से 57 सीटों पर जीत दर्ज कर एतिहासिक प्रदर्शन किया था। पार्टी का यही प्रदर्शन अब उसके लिए चुनावी कसौटी बन गया है। खासकर इसलिए भी, क्योंकि उत्तराखंड के अलग राज्य बनने के बाद अब तक हुए चार विधानसभा चुनाव में कोई भी पार्टी लगातार दो बार सत्ता तक नहीं पहुंच पाई है। भाजपा सांगठनिक मोर्चे पर तो प्रतिद्वंद्वियों पर भारी है ही, चुनावी तैयारियों के लिहाज से भी विपक्ष कांग्रेस समेत सभी पार्टियों पर बढ़त बनाए हुए है। अब केंद्रीय नेताओं के कार्यक्रमों को लेकर भी भाजपा आगे दिख रही है।

शनिवार को होने वाली शाह की जनसभा यूं तो देहरादून जिले की धर्मपुर सीट के अंतर्गत आयोजित की जा रही है, मगर लक्ष्य इसके माध्यम से पूरे गढ़वाल मंडल पर असर डालने का है। गढ़वाल मंडल के सात जिलों में कुल 41 विधानसभा सीटें हैं। विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले हो रही इस जनसभा से संकेत काफी कुछ साफ हो जाएंगे कि भाजपा की भविष्य की रणनीति क्या रहेगी। गढ़वाल मंडल में पिछली बार भाजपा ने 34 सीटें हासिल की थीं। कुमाऊं मंडल के छह जिलों में कुल 29 सीटें हैं, जिनमें से 23 पर भाजपा ने परचम फहराया था।मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना के तहत पशुपालकों को पशुओं के लिए पैक्ड साइलेज (सुरक्षित हरा चारा) रियायती दर पर सहकारिता विभाग मुहैया कराएगा। प्रथम चरण में चार जिलों पौड़ी, रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा व चम्पावत में यह योजना शुरू की जा रही है। इससे पर्वतीय क्षेत्र में महिलाओं के सिर से पशुओं के लिए चारा एकत्र करने का बोझ कम होगा।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.