Home

अलर्ट : यहां तेजी से बढ़ रहा साइबर क्राइम, कई लोग फंस रहें चुगल में, इस तरह रहें सतर्क, जानें

देहरादून : दुनिया भर में साइबर अपराध  बढ़ता ही जा रहा हैं। लालच के चक्कर में पढ़े-लिखे व्यक्ति भी साइबर ठगों के चंगुल में फंस रहे हैं। वहीं लॉकडाउन के बाद उत्तराखंड के उत्तरकाशी जनपद में भी साइबर ठगी के मामले बढ़े हैं। इस अंतराल में आठ मुकदमे दर्ज हुए हैं। तीन मामलों का उत्तरकाशी पुलिस ने हाल ही में पर्दाफाश किया है, लेकिन उसके बाद भी साइबर ठगी से बचने के लिए आमजन को जागरूक होने की बेहद जरूरत है।

पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने बताया कि साइबर ठगी के मामले राजस्व क्षेत्र से अधिक आ रहे हैं। आमजन को ठगों से बचने के लिए पुलिस जागरूकता अभियान भी चलाती है।

इस तरह रहें ठगों से सतर्क

  • फेसबुक यूजर की आइडी को हैक करके ठग मैसेंजर पर पैसे की मांग करते हैं, ऐसे मैसेज के झांसे में न आएं।
  • बैंक अधिकारी बनकर ठग ग्राहकों से एटीएम से संबंधित सारी जानकारी लेते हैं, किसी भी व्यक्ति को एटीएम व बैंक संबंधित जानकारी न दें।
  • मोबाइल टावर लगाने का लालच देकर ठगी हो रही है, इनके झांसे में न आएं।
  • ओएलएक्स पर महंगा सामान सस्ते दामों पर बेचने का लालच दिया जा रहा है, ऐसे ठगी करने वालों के चंगुल में न फंसे।
  • विदेश से पार्सल आने और उसे कस्टम से छुड़वाने के नाम से भी ठगी की जा रही है। ऐसे ठगों से बचें।1- उत्तरकाशी के पुजार गांव (ब्रहमखाल) निवासी गिरीश कुमार ने 17 नवंबर 2019 को राजस्व पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई थी कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने ओएलएक्स के जरिये उसे स्कूटी बेचने का झांसा दिया और उससे पेटीएम के माध्यम से 80 हजार रुपये ठग लिए। ठगी करने के आरोपित को धरासू पुलिस ने 17 नवंबर को राजस्थान के अलवर से गिरफ्तार किया।2- चिन्यालीसौड़ के बनाड़ी गांव के मुकेश सेमवाल के खाते से 2.91 लाख की धनराशि ऑनलाइन ठगी कर साइबर ठगों ने अपने खातों में ट्रांसफर की। उत्तरकाशी कोतवाली पुलिस एक माह तक इन शातिरों की गिरफ्तारी को दबिश देती रही। बीते 9 नवंबर को पुलिस ने इस घटना का पर्दाफाश कर दो आरोपितों को गिरफ्तार किया।

    3- थाना धरासू के गेंवला गांव निवासी प्रवीण सिंह रावत ने इसी वर्ष 1 अगस्त को धरासू पुलिस को तहरीर दी कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने एचडीएफसी कस्टमर केयर बैंक अधिकारी बनकर 3.84 लाख की ऑनलाइन ठगी की है। इस मामले का पर्दाफाश करते हुए धरासू पुलिस ने आरोपित को 5 अगस्त को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया, जिसमें नकदी और सामान भी बरामद हुआ है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.