उत्तराखंड देश

एयर मार्शल श्री विजयपाल सिंह राणा का गांव से महानिदेशक इंडियन एयर फोर्स तक का सफर

Share and Enjoy !

पहाड़ के लोगों का सेना के बड़े पदों पर विराजमान होने का सिलसिला जारी है।इसी कड़ी में एयर मार्शल राणा जी ने 1 जनवरी 2020 को महानिदेशक वर्क सेरेमोनियल का पद संभाला है। जो कि उत्तराखण्ड के लिये गर्व की बात है।

वाइस एयर मार्शल से एयर मार्शल की नई सीट पर राणा जी एक जनवरी को विराजमान हुए। तब उनके गांव नेलड़ा , पट्टी धारमण्डल , ब्लॉक जाखणीधार, टिहरी गढ़वाल को मालूम चला कि, वे इतने बड़े पद पर विराजमान हुए हैं। एयर मार्शल आर्मी में लेफ्टिनेंट जनरल के समान के पद का होता है।

उनके उत्तरकाशी महाविद्यालय में बीएससी के क्लासमेट मौजूदा समय में उत्तराखण्ड के सबसे बड़े डॉक्टर न्यूरोसर्जन महेश कुड़ियाल ने बताया कि, विजयपाल पढ़ाई में तीव्र बुद्धि वाला था। उन्हें लगता था कि, वह एक दिन काफी आगे जायेगा।

वन रेंजर श्री कुंदन सिंह राणा के घर में जन्में विजयपाल जी की प्राइमरी एजुकेशन गांव में हुई। 6, 7 क्लास रजा खेत, 7वीं 8वीं घुमेटीधार, वहाँ उन्होंने एकीकृत छात्र परीक्षा निकाली तो श्रीनगर चले गए। वहाँ हॉस्टल में रहे। 9 वीं 10 वीं करके पुनः घुमेटीधार इंटर कालेज आ गए। चूंकि पिताजी फॉरेस्ट में वहाँ थे। बीएससी करने वह उत्तरकाशी चले गए। वहाँ बुवा रहती थीं।
एमएससी करने पंत नगर यूनिवर्सिटी चले गए थे। वहाँ उन्होंने पीएचडी भी की। 1983 में उनका उनका चयन सीडीएस में हो गया था। 1984 से उनका एयर फोर्स का करियर शुरू हो गया था।

वह डिफेंस सर्विस स्टाफ कालेज( DSSC) के स्नातक हैं। जहाँ उन्होंने बाद में परिसिक्चक के रूप में सेवाएं दी। वायु सलाहकार, और रक्षा सेवा कमाण्डर स्टॉफ कालेज (DSCSC) लुस्का, जामिबिया में परिसिक्चक के रूप में सेवाओं को देने का रिकार्ड है।

2014 में राणा को विशिष्ट सेवा मेडल दिया गया। क्योंकि कारगिल ऑपरेशन के दौरान रडार यूनिट की कमान संभाली थीं।
जम्मू कश्मीर के *ऑपरेशन पराक्रम* में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थीं। एयर मार्शल राणा वायु कमान , नियंत्रण प्रणाली के निदेशक परिचालन के रुप में कार्य किया है।

एयर मार्शल श्री राणा गांव के लोगों से संपर्क बना हुआ है। उनकी माँ छोटे भाई श्री अजयपाल फॉरेस्ट विभाग के पास देहरादून रहती हैं। टिहरी झील में हुए एक कार्यक्रम में उन्होंने अपने मित्र एयर मार्शल श्री अरविंद सिंह बुटोला की फोटो देखी, तो उन्होंने फोन करके कहा कि आप मेरे गाँव के सामने खड़े हो।
जहाँ मैं पैदा हुआ और मेरा स्कूल था। राणा जी का गांव नेल्डा, झील के ऊपर प्रतापनगर तहसील में है। एयर मार्शल बुटोला पुराणा दरबार / जखण्ड गांव के हैं।

एयर मार्शल श्री राणा का 36 साल का सर्विस का रिकार्ड शानदार रहा। सेना के लिये उनका समपर्ण भाव उन्हें ऊंचाईयों पर ले जाता है। वह 31 जनवरी 2022 को सेवानिवृत्त होंगे।

Sources:Sheeshpal Gusain Facebook page

Share and Enjoy !

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.