onwin giris
Home उत्तराखंड राजनीति

मुख्यमंत्री धामी ने से आपदा प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के साथ ही स्थलीय निरीक्षण का सिलसिला शुरू किया

सेनापति खुद मैदान में उतर जाए तो न सिर्फ सेना का मनोबल बढ़ता है, बल्कि जीत की राह भी आसान होती चली जाती है। चार दिन से आपदा का दंश झेल रहे उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी यह रास्ता अपनाया है। बचाव एवं राहत कार्यों की कमान संभाले धामी पिछले दो दिन से आपदा प्रभावित क्षेत्रों का तूफानी दौरा कर पीड़ि‍तों का हौसला बढ़ा रहे हैं। ग्राउंड जीरो पर जाकर आपदा पीड़ि‍तों का दुख दर्द जानने के लिए उन तक पहुंचने को वह जोखिम उठाने से भी नहीं चूके। जाहिर है कि उनके इस समर्पण भाव से सरकारी मशीनरी निरंतर एक्टिव मोड में है। यही वक्त का तकाजा भी है।उत्तराखंड में रविवार को आपदा की दस्तक के बाद से अब तक मुख्यमंत्री धामी लगातार न सिर्फ पल-पल की जानकारी ले रहे हैं, बल्कि हर उस स्थान पर पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं, जहां कुदरत ने कहर बरपाया है। मुख्यमंत्री के ग्राउंड जीरो पर उतर कर मानीटरिंग किए जाने का ही असर है कि बचाव एवं राहत कार्य युद्ध स्तर पर चल रहे हैं। इसमें राज्य का पूरा सिस्टम तो जुटा ही है, सेना और वायु सेना की मदद भी ली जा रही है।

मुख्यमंत्री ने मंगलवार से आपदा प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के साथ ही स्थलीय निरीक्षण का सिलसिला शुरू किया। मंगलवार को उन्होंने आपदा प्रबंधन मंत्री डा धन सिंह रावत के साथ देहरादून से हल्द्वानी के लिए उड़ान भरी, लेकिन खराब मौसम के कारण हेलीकाप्टर लैंड नहीं कर पाया। आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे करने के बाद मुख्यमंत्री रुद्रप्रयाग पहुंचे और अधिकारियों के साथ केदारनाथ यात्रा समेत जिले की स्थिति की समीक्षा की। विभिन्न इलाकों का हवाई सर्वे करते हुए वह वापस देहरादून लौटे और शाम को पंतनगर पहुंचे। पंतनगर से वह सड़क मार्ग से रुद्रपुर पहुंचे और आपदा प्रभावितों का हौसला बढ़ाया।सड़क मार्ग में तमाम बाधाओं के बावजूद जोखिम उठाकर वह हल्द्वानी पहुंचे और देर रात तक आपदा प्रभावित क्षेत्र में रहे। बुधवार को उन्होंने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी कि आपदा प्रभावितों की मदद में कोई कमी न रहे। फिर वह प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने निकले, लेकिन हेलीकाप्टर की उड़ान में मौसम बाधक बन गया। इस पर मुख्यमंत्री ने सड़क मार्ग से कुमाऊं के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया। अपने विधानसभा क्षेत्र खटीमा में तो वह ट्रेक्टर से आपदा पीड़ि‍तों तक पहुंचे और उनका हाल-चाल जाना। साथ ही किसानों, स्थानीय निवासियों, दुकानदारों से मुलाकात कर उन्हें आश्वस्त किया कि सरकार की ओर से हरसंभव मदद मुहैया कराई जाएगी।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.