Home उत्तराखंड राजनीति

कृषि मंत्रालय के साथ मिलकर काशीपुर आइआइएम को पलायन रोकने की योजना तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी

पलायन पहाड़ की प्रमुख समस्या है। इसे रोकने के लिए शासन ने तमाम प्रयास किए। लेकिन असर कुछ खास नहीं हुआ। कोरोना की पहली व दूसरी लहर में बाहर गए युवा लौटे तो जरूर, पर रोजगार के अभाव में वे अब फिर से वापस जाने लगे हैं। ऐसे में शासन ने कृषि मंत्रालय के साथ मिलकर काशीपुर आइआइएम को पलायन रोकने की योजना तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी है। इसके लिए फीड टीम ने प्रोग्राम लांच किया है, जिसे सक्षम व साहस नाम दिया गया है। इनके तहत प्रदेश से ही कृषि आधारित 40 स्टार्टअप का चयन किया जाएगा। आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। कृषि मंत्रालय चयनित स्टार्टअप को पांच लाख से 25 लाख का फंड देगा। संबंधित स्टार्टअप से अनुबंध भी करेगा, जिससे स्थानीय युवाओं को रोजगार भी मिल सकेगा। इस पहल से काफी हद तक पलायन रुकने की उम्मीद जताई जा रही है।

आइआइएम की विंग इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्यूरोशिप टीम के डायरेक्टर सफल बत्रा का कहना है कि हमारा मकसद कोरोनो के दौरान पहाड़ों पर वापस लौट कर आने वाले युवाओं में स्कील डवलमेंट व उनके स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने पर है एक स्टार्टअप अपनी टीम चाहे तो सौ अन्य लोगों के लिए भी रोजगार उपलब्ध करा सकता है। मिनिस्ट्री ऑफ एग्रीक्ल्चर व फार्मर वेलफेयर के सहयोग से रफ्तार प्रोजेक्ट शुरू किया है जिसमें दो सेक्शन तैयार किया गया है पहला प्रोग्राम सक्षम नाम से होगा जिसमें एग्रीकल्चर से स्किल वाले स्टार्टअप का चयन किया जाएगा। वहीं दूसरा प्रोग्राम नव उद्यमी बनने वाले युवाओं के लिए है जिसका नाम साहस रखा गया है। पिछले दो साल से इस प्रोजेक्ट से 60 के करीब युवा स्टार्टअप ने प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। इस बार खास बात यह है कि कृषि मंत्रालय का इस बात पर जोर है कि आइआइएम काशीपुर पहले उत्तराखंड पर फोकस करे जिससे पलायन रोकने को कारगर तैयारी की जा सके।

फीड टीम के डायरेक्टर सफल बत्रा का कहना है कि हमने सक्षम व साहस प्रोग्राम के लिए आवेदन शुरू कर दिए हैं पूरे उत्तराखंड के साथ अन्य राच्यों की इंट्री भी ली जागएी। युवा अपना आवेदन 31 जुलाई तक तक कर सकते हैं। फीड की वेवसाइट फीड डॉट इन पर आवेदन किया जा सकता है। आवेदन पर फीड टीम स्क्रीङ्क्षनग करेगी। बेस्ट स्टार्टअप आवेदन रखने वालों को चिह्नित कर उनको लेटर भेजा जाएगा। जिसके बाद अगस्त से इसकी ट्रैङ्क्षनग शुरू की जाएगी।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.