Home उत्तराखंड स्लाइड

सभी जिलों में सील किए गए मोहल्लों में उतारी जा रही सर्विलांस टीमें, तैयार होगी ट्रैक हिस्ट्री

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए उत्तराखंड में लॉकडाउन किए गए मोहल्लों और कॉलोनियों की शत-प्रतिशत स्क्रीनिंग होगी। देहरादून में शासन और प्रशासन ने कुछ इलाकों में अपने इस अभियान पर कार्रवाई शुरू कर दी है। प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मामले पाए जाने पर उनसे जुड़े करीब डेढ़ दर्जन स्थानों को सील कर दिया गया है। प्रदेश में अभी तक 31 कोरोना पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है।

इनमें सबसे अधिक 18 मामले अकेले देहरादून जिले के हैं। इसकी वजह से अब शासन ने देहरादून को हॉट स्पॉट मान लिया है। जिले में अभी तक पांच आवासीय कालोनी व बस्तियों को पूरी तरह से सील कर दिया है। हरिद्वार जिले के रुड़की में पनियाला गांव को सील किया गया है जबकि कलियर और मंगलौर के कुछ घर भी निगरानी पर रखे गए हैं।

नैनीताल जिले के हल्द्वानी में चार इलाकों में लॉकडाउन किया गया है। इसी तरह अल्मोड़ा के रानीखेत में भी तीन मोहल्ले सील किए गए हैं। ऊधमसिंह नगर में गुज्जर खत्ता गांव लॉक डाउन है। इन सभी मोहल्लों में कोरोना पॉजिटिव मामले मिले हैं।

संपर्क में आए लोगों की तैयार होगी ट्रैक हिस्ट्री

सर्विलांस टीमें सबसे पहले उन लोगों को ट्रेस करेगी, जो कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आए। उनके और उनके परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य संबंधी लक्षणों के बारे में जानकारी ली जाएगी। यदि किसी व्यक्ति में खांसी, जुकाम और बुखार के लक्षण होंगे तो तत्काल जांच और परीक्षण के बाद उन्हें 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। आवश्यकता के अनुसार उनके कोरोना पॉजिटिव की जांच कराई जाएगी। इसके साथ ही ऐसे लोगों की ट्रैक हिस्ट्री भी तैयार की जाएगी कि इस अवधि में वे कहां-कहां गए, किन किन लोगों से मिले।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.