टेक्नोलॉजी

लॉन्च हुआ गूगल का ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड पाई, जानिए- क्या है इसकी खासियत

सर्च इंजन कंपनी गूगल अब स्मार्टफोन यूजर्स को पाई (पश्चिमी देशों में लोकप्रिय व्यंजन) का स्वाद चखाने जा रहा है। गूगल ने स्मार्टफोन के लिए नई पीढ़ी का ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड पाई पेश कर दिया है। मार्च में कंपनी ने इसका प्रिव्यू वर्जन लांच किया था, जिसे एंड्रॉयड पी नाम दिया था। फिलहाल एंड्रॉयड पाई सिर्फ गूगल के पिक्सल स्मार्टफोन के लिए उपलब्ध है, लेकिन इस साल के आखिर तक इसे सभी एंड्रॉयड फोन के लिए जारी कर दिया जाएगा।

आपके मोबाइल तक ऐसे पहुंचता है एंड्रॉयड
गूगल एंड्रॉयड स्मार्टफोन के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम तैयार करता है। स्मार्टफोन कंपनियां गूगल से अपडेट एंड्रॉयड वर्जन खऱीदकर अपने ग्राहकों तक पहुंचाती हैं। ज्यादातर कंपनियां एंड्रॉयड के यूजर इंटरफेस (इस्तेमाल करने के तरीके और डिजाइन) में फेरबदल कर देती हैं। यूजर मोबाइल की सेटिंग में जाकर एंड्रॉयड अपडेट कर सकते हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर करेगा काम
गूगल ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को केंद्र में रखकर एंड्रॉयड पाई तैयार किया है। एंड्रॉयड पाई यूजर्स की आदत और व्यवहार को समझकर जल्द और सटीक परिणाम देने में सक्षम होगा। इसे अब तक का सबसे स्मार्ट एंड्रॉयड वर्जन माना जा रहा है।

मिठाइयों का शौकीन गूगल
गूगल मोबाइल फोन के ऑपरेटिंग सिस्टम को वर्णानुक्रम में और मिठाइयों के नाम पर उतारता है। गूगल के पिछले एंड्रॉयड वर्जन के नाम ऑरियो, नॉगट, मार्शमैलो, लॉलीपोप, किटकेट, जेलीबीन, आइसक्रीम सेंडविच, हनीकोम्ब, जिंजर ब्रेड, फ्रोयो, इक्लेयर, डोनट, कप केक, बनाना ब्रेड था। यानी गूगल का सबसे पहला एंड्रॉयड वर्जन बनाना ब्रेड था। पाई गूगल का नौवां एंड्रॉयड स्मार्टफोन ऑपरेटिंग सिस्टम है।

एंड्रॉयड पाई की खासियत

गूगल ने पिछले ऑपरेटिंग सिस्टम में मौजूद कमियों पर काम करते हुए एंड्रॉयड पाई को ज्यादा सुरक्षित और आसानी से इस्तेमाल होने वाला बनाया है। स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वालों की सबसे बड़ी समस्या बैटरी होती है। समय और बैटरी बचाने के लिए एंड्रॉयड पाई ज्यादा तेजी से काम करता है।

एंड्रॉयड बीटा प्रोग्राम में हिस्सेदारी

ऑपरेटिंग सिस्टम के नवीनतम वर्जन का फीडबैक जानने के लिए गूगल एंड्रॉयड बीटा प्रोग्राम पेश करता है। इसमें एंड्रॉयड का प्रिव्यू वर्जन उतारा जाता है। प्रीव्यू वर्जन डाउनलोड कर यूजर्स इसमें मौजूद कमियां और खामियां गूगल को रिपोर्ट कर सकते हैं। हालांकि इस प्रोग्राम में चुनिंदा मोबाइल फोन ब्रांड यूजर ही भाग ले सकते हैं।

साल के आखिर तक सभी के लिए उपलब्ध

गूगल ने मार्च में अपनी सालाना आइओ डेवलपर्स प्रेस कॉन्फ्रेंस में एंड्रॉयड पाई से पर्दा उठाया था। तब ये प्रिव्यू वर्जन में था। कंपनी ने अब सभी कमियों को दूर कर इसका शुद्ध वर्जन उतारा है। गूगल स्मार्टफोन के बाद नवंबर तक सोनी, शाओमी, एचएमडी ग्लोबल, ओप्पो, वीवो, वनप्लस और एसेन्शल मोबाइल के उन यूजर्स को एंड्रॉयड पाई अपडेट मिलेगा, जिन्होंने एंड्रॉयड बीटा प्रोग्राम में भाग लिया था। अन्य के लिए साल के आखिर तक लांच होगा।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2015 News Way· All Rights Reserved.