बैंक में करोड़ों के फर्जी लोन देने पर बैंक मैनेजर हुआ सस्पेंड

Facebooktwittermailby feather

करोड़ों के फर्जी लोन प्रकरण में जिला सहकारी बैंक देहरादून मुख्यालय से अटैच मैनेजर नरेंद्र शर्मा को निलंबित कर दिया गया है। उन पर माजरा और तहसील सब्जी मंडी ब्रांच में मैनेजर रहते हुए करोड़ों का फर्जी लोन बांटे जाने की शिकायत पर दोनों ब्रांच के मैनेजर नरेंद्र शर्मा को मुख्यालय से अटैच कर दिया गया था।

महाप्रबंधक वंदना श्रीवास्तव ने बताया कि जांच में बड़े स्तर पर गड़बड़ी पाई गई। एक संपत्ति के दस्तावेज के आधार पर कई लोगों को लोन बांट दिए गए। इसमें दूसरी संस्थाओं की फर्जी मुहर, लेटर पेड का भी इस्तेमाल किया गया। श्रीवास्तव ने बताया कि, जांच में कई और लोगों की भूमिका पर भी संदेह है।

ये लोन एनपीए हो चुके हैं। संपत्ति के कागजात लोन लेने वालों के नहीं हैं। ऐसे में संपत्ति को अटैच भी नहीं किया जा सकता। इस फर्जीवाड़े का खुलासा करने को डीसीबी प्रबंधन की ओर से एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। इसके लिए डीजीएम केके गोस्वामी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। इसमें माजरा और तहसील सब्जी मंडी ब्रांच के मौजूदा मैनेजर भी शामिल हैं।

बड़े स्तर पर गड़बड़ी की शिकायत मिलते ही जांच कराई गई। जांच में गड़बड़ी पाए जाने पर मैनेजर नरेंद्र शर्मा निलंबित किए गए हैं। एफआईआर कराने के निर्देश दे दिए गए हैं। जांच में जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।
वंदना श्रीवास्तव, महाप्रबंधक डीसीबी, देहरादून