देहरादून के स्कूल का कारनामाः बच्चे अपने घरों में हैं फिर भी देनी होगी हाॅस्टल फीस

Facebooktwittermailby feather

लाॅकडाउन के कारण बिगड़ी स्थितियों के कारण हर क्षेत्र में स्थितियां बदल गई हैं। खास तौर शिक्षण संस्थाओं की बात करें तो सभी बच्चे अपने घरों में हैं आॅनलाइन पढ़ाई के भरोसे हैं। अभिभावकों पर अनावश्यक फीस का दबाव ना पड़े इसके लिए सरकार ने भी कुछ व्यवस्थाएं दी हैं। गाइडलाइन जारी की है। लेकिन ये रसूक वाले निजी स्कूल हैं कि मानने को तैयार ही नहीं हैं। एक मामला यहां प्रकाश में आया है।

राजधानी का प्रतिष्ठित स्कूल दून इंटरनेशनल। यहां के प्रबंधन ने बड़ी चालाकी से अभिभावकों से हाॅस्टल फीस के लिए भी पत्र भेजा है। हाॅस्टल फीस हाल के महीनों की भी मांगी जा रही है जब छात्र छात्राएं इनके हास्टलों में न रहकर बल्कि लाॅकडाउन के अनुपालन में अपने घरों में रहे। लेकिन इसके बावजूद भी अभिभावकों को हाॅस्टल शुल्क भी जमा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

इससे अभिभावकों का परेशान होना तो स्वाभाविक हैं। अभिभावकों ने प्रबंधन से इस संबंध मंे बात की तो कोई संतोषजनक जबाब तो नहीं मिला, शुल्क जमा करने को कहा गया। ऐसे में साफ है कि सरकार के निर्देशों का अनुपालन क्यों नहीं ये निजी स्कूल कर रहे हैं।