Home स्लाइड

दिल्ली हिंसा रोकने की जिम्मेदारी NSA को दी गई,अजित डोभाल बोले- किसी को डरने की जरूरत नहीं

Facebooktwittermailby feather

दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर फैली हिंसा को रोकने की जिम्मेदारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को दी गई है. इसके साथ ही हालात पर काबू पाने के लिए दिल्ली पुलिस को पूरी छूट दी गई है. सरकारी सूत्रों के अनुसार, “राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल को दिल्ली में हो रही हिंसा की घटनाओं को काबू करने की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है… वह प्रधानमंत्री तथा केंद्रीय मंत्रिमंडल को हालात के बारे में ब्रीफ करेंगे… NSA ने मंगलवार रात को जाफराबाद, सीलमपुर तथा उत्तर-पूर्वी दिल्ली के अन्य इलाकों का दौरा किया था, जहां उन्होंने विभिन्न संप्रदायों के नेताओं से बातचीत भी की… NSA ने स्पष्ट कर दिया है कि राष्ट्रीय राजधानी में कानून एवं व्यवस्था को भंग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी तथा पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तथा अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती कर दी गई है… हालात को काबू में करने के लिए पुलिस को पूरी छूट दे दी गई है…”

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल ने NDTV से कहा, “मैं आश्वासन देता हूं कि कानून का पालन करने वाले किसी भी नागरिक को कोई भी किसी भी तरह की हानि नहीं पहुंचा पाएगा… पर्याप्त बल तैनात है, किसी को डरने की ज़रूरत नहीं है… लोगों को वर्दीधारियों पर भरोसा करना होगा…”

बता दें, दिल्ली में तनावपूर्ण हालातों के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने  उत्तर-पूर्वी दिल्ली के डीसीपी दफ़्तर जाकर हिंसा के मौजूदा हालात के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली. साथ ही उन्होंने हिंसा ग्रस्त इलाकों का दौरा भी किया. इलाके के दौरे से पहले अजित डोभाल ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के साथ देर शाम बैठक भी की थी. इस बैठक में दिल्ली के नव नियुक्त स्पेशल कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव भी मौजूद थे. दिल्ली को लेकर 24 घंटे में अमित शाह की यह तीसरी बैठक थी. जानकारी के मुताबिक इस बैठक में राजधानी के हालातों को सामान्य करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाने पर चर्चा की गई.  

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.