Home उत्तराखंड

गिरता पाला बन रहा जानलेवा,तालाब का पानी जमने से लगभग 2 हजार से मछलियों की मौत

उत्तराखंड।  पर्वतीय क्षेत्रों में रात में गिर रहा पाला मछलियों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। पाला गिरने से नरियाल गांव स्थित मछली पालन के दो तालाबों का पानी पूरी तरह जम गया है। इस वजह से केंद्र के तालाब में पल रहीं करीब दो हजार छोटी मछलियां मर गईं। ये मछलियां मत्स्य पालकों को बांटी जानी थीं। लेकिन इससे पहले ही ये सर्दी का शिकार हो गईं।

पहाड़ी क्षेत्रों में इन दिनों रात के वक्त खूब पाला गिर रहा है। इससे लोगों को ठंड का सामना तो करना पड़ ही रहा है। इसके अलावा मछलियों की मौत की वजह भी बन रहा है। गुरुवार रात नरियालगांव स्थित मत्स्य प्रजनन केंद्र स्थित दो मत्स्य पालन तालाबों का पानी पाला गिरने से जम गया।

इससे तालाब में पल रहीं करीब दो हजार मछलियां मर गईं। जिला मत्स्य पालन प्रभारी संजीव कुमार ने बताया कि इस केंद्र के चार तालाबों में करीब 30 हजार छोटी मछलियां डाली गई थीं, जिन्हें मत्स्य पालकों को वितरित किया जाना था। बीते गुरुवार को चार में से दो तालाबों का पानी पाले के कारण पूरी तरह जम गया।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.