Latest:
Home उत्तराखंड जॉब बिज़नेस स्लाइड

उत्तराखंड: वेतन के लिए तरसे शिक्षक और कर्मचारी, कहा समय पर नहीं मिल रहा वेतन, कैसे मनाये दिवाली

Facebooktwittermailby feather

समग्र शिक्षा अभियान और माध्यमिक स्कूलों में तैनात अतिथि शिक्षकों को वेतन समय पर नहीं मिल रहा है। जिसके चलते उन्होंने सरकार से वेतन मिलने की गुहार लगाई है। उनका कहना है की इस त्योहारी सीजन में हम कैसे त्यौहार मनाएं।

सितम्बर से नहीं मिला वेतन –
बता दें की जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र बहुगुणा ने कहा कि सितम्बर से अभी तक शिक्षकों का वेतन नहीं मिला है। त्योहारी सीजन में वेतन न मिलने के कारण शिक्षकों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कई बार निदेशालय और सरकार से इसके बारे में मांग कर चुकी है।, लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही।बजट की नियमित व्यवस्था न होने की वजह से हर दूसरे-तीसरे महीने मानदेय रुक जाता है। अब जो हाल है, उससे लगता है कि दिवाली तक भी मानदेय शायद ही मिल पाए।

इस पर माध्यमिक अतिथि शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री दौलत जगूड़ी ने कहा कि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के निर्देश के बावजूद अतिथि शिक्षकों को दो महीने से मानदेय नहीं मिला।बजट की नियमित व्यवस्था न होने की वजह से हर दूसरे-तीसरे महीने मानदेय रुक जाता है। अब जो हाल है, उससे लगता है कि दिवाली तक भी मानदेय शायद ही मिल पाए।

दौलत जगूड़ी ने कहा कि एक ओर सरकार परमानेंट कर्मचारी-शिक्षकों को बोनस देने की तैयारी कर रही है, वहीं अल्पवेतन भोगी कर्मचारी अपने मानदेय के लिए तरस रहे हैं। उन्होंने सरकार से मांग की कि दिवाली से पहले मानदेय हर हालत में बंटवा दिया जाए। इधर, शिक्षा निदेशक आरके कुंवर ने कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

 

 

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.