उत्तराखंड देश पर्यटन स्लाइड

उत्तराखंड : रोडवेज कर्मचारियों के वेतन को लेकर हाईकोर्ट ने यूपी और उत्तराखंड सरकार से मांगा शपथपत्र। 

Facebooktwittermailby feather

नैनीताल हाईकोर्ट ने मंगलवार को रोडवेज कर्मचारियों को जुलाई से वेतन नहीं दिए जाने के मामले में यूनियन की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई की। इसमें कोर्ट ने अभी तक कर्मचारियों का वेतन भुगतान न करने पर नाराजगी जताई। कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार, उत्तराखंड परिवहन निगम व उत्तराखंड सरकार से मामले में एक सप्ताह के भीतर शपथपत्र पेश करने को कहा है। अगली सुनवाई एक सप्ताह बाद होगी।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश रवि कुमार मलिमथ एवं न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में मामले की सुनवाई हुई। पूर्व में कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से पूछा था कि या तो वह सुप्रीम कोर्ट का आदेश दिखाए या फिर निगम को 27 करोड़ रुपये का भुगतान करे। लेकिन आज हुई सुनवाई में उत्तर प्रदेश सरकार सुप्रीम कोर्ट में दायर एसएलपी का आदेश नहीं दिखा पा पाई। इस पर कोर्ट ने नाराजगी व्यक्त की। इस संबंध में एक सप्ताह के भीतर शपथपत्र पेश करने को कहा।

वहीं कोर्ट ने राज्य सरकार से भी अभी तक कर्मचारियों को वेतन भुगतान नहीं करने पर नाराजगी व्यक्त की। कोर्ट ने सरकार से पूछा कि बकाया भुगतान करने के संबंध में बिल को कैबिनेट से मंजूरी मिली अथवा नहीं। इस बाबत भी शपथपत्र के माध्यम से कोर्ट को अवगत कराएं। मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान यूपी सरकार की ओर से कहा गया कि 27 करोड़ रुपये के भुगतान करने के संबंध में उनकी एसएलपी सुप्रीम कोर्ट में दायर हो चुकी है।

यह यचिका  दायर हुई थी –

रोडवेज कर्मचारी यूनियन की ओर से जनहित याचिका दायर की गई है। इसमें कहा है कि सरकार ने उनको लॉकडाउन से वेतन का भुगतान नहीं किया है। न ही उनको निगम से समय पर वेतन आदि का भुगतान किया जा रहा है। यूनियन का यह भी कहना है कि उत्तराखंड को बने 20 साल हो गए हैं, जबकि

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.