onwin giriş
Home उत्तराखंड

उत्तराखंड में रोडवेज कर्मियों की आज से हड़ताल

निगम प्रबंधन से वार्ता विफल होने के बाद रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद ने आज रात से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का एलान किया है। हड़ताल में परिषद से जुड़े करीब चार हजार कर्मचारी शामिल होंगे।
रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद की भी परिवहन निगम प्रबंधन से वार्ता हुई। वार्ता में महामंत्री दिनेश पंत ने पांच जुलाई को हुई बोर्ड बैठक के निर्णयों पर कड़ा ऐतराज जताया। घाटे के नाम पर वेतन आधा करने पर भी रोष जताया। वार्ता के दौरान निगम कार्मिकों का वेतन आधा करने, कैबिनेट बैठक में निगम के लिए 155 करोड़ का अनुदान स्वीकृत करने, विशेष श्रेणी एवं संविदा कार्मिकों के नियमितीकरण आदि के संबंध में कोई ठोस सहमति नहीं बन पाई। उन्होंने बोर्ड बैठक के प्रस्तावों को निरस्त करने के साथ ही निगम के राजकीयकरण की भी मांग की। किसी भी मुद्दे पर सहमति न बनने पर रोडवेज परिषद ने बुधवार की मध्य रात्रि से कार्य बहिष्कार को यथावत रखने का निर्णय लिया है।

परिषद का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार की परिवहन मंत्री यशपाल आर्य से मिला। उन्होंने मंत्री को निगम बोर्ड के फैसलों के बारे में बताया। नाराजगी के सभी बिंदु सामने रखें। परिषद के महामंत्री दिनेश पंत ने बताया कि इस पर मंत्री यशपाल आर्य ने अनभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि निगम बोर्ड के फैसलों को लेकर वह जल्द ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से वार्ता करेंगे।

प्रतिनिधिमंडल में दिनेश पंत, प्रेम सिंह रक्त, विपिन बिजल्वाण, मेजपाल, राकेश पेटवाल, अनुराग नौटियाल मौजूद थे। परिषद के महामंत्री दिनेश पंत ने बताया कि उनसे करीब चार हजार कर्मचारी जुड़े हैं। इनमें कार्यशाला के सबसे ज्यादा कर्मचारी हैं। रोडवेज कर्मचारी संगठनों की ओर से हड़ताल की चेतावनी पर परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने अपील की है। उन्होंने कहा कि बमुश्किल बसों का संचालन सुचारु हुआ है। ऐसे में घाटे से जूझते निगम को कर्मचारियों के साथ की जरूरत है।

Similar Posts

© 2015 News Way· All Rights Reserved.