उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की हालत में लगातार सुधार

Facebooktwittermailby feather

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश से बीते सोमवार शाम डिस्चार्ज किए गए पर्यटन मंत्री के पांच परिजनों को एम्स अस्पताल में दोबारा एडमिट किया गया है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार होम क्वारंटाइन की समुचित व्यवस्था नहीं होने के चलते ऐसा किया गया है। उधर, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और उनकी धर्मपत्नी की हालात में लगातार सुधार हो रहा है।

एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रविकांत के स्टाफ ऑफिसर डॉ. मधुर उनियाल ने बताया कि सोमवार शाम अस्पताल में भर्ती पर्यटन मंत्री के पांच परिजनों को एसिम्टोमेटिक ( जिस व्यक्ति में रोग के लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हों) होने के चलते केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की रिवाइज गाइडलाइन के मद्देनजर उनके होम क्वारंटाइन की समुचित व्यवस्था में रहने की बात पर डिस्चार्ज कर दिया गया था। इसके लिए परिजनों द्वारा एम्स प्रशासन से आग्रह किया गया था।

उन्होंने बताया कि इसके बाद मालूम हुआ कि घर पर मंत्री के परिजनों के होम क्वारंटाइन में रहने की समुचित सुविधाएं नहीं हैं। लिहाजा कोविड पॉजिटिव मरीजों की समुचित चिकित्सा व निगरानी के मद्देनजर सभी परिजनों को दोबारा अस्पताल में दाखिल कर दिया गया है, ताकि संक्रमित परिजनों की भी सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके और अन्य कोई व्यक्ति भी उनके संपर्क में आकर संक्रमित नहीं हो।